Immunity means in hindi

Immunity means in hindi

Immunity means in hindi – Immunity यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता. कहते हैं कि अगर किसी व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) मजबूत हो तो वह बड़ी से बड़ी बीमारी को मात दे सकता है. व्यक्ति की मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता उसके अच्छे स्वास्थ्य की सबसे पहली निशानी भी होती है. जैसा कि सब जानते ही हैं, पूरी दुनिया आज कोरोना(COVID-19) जैसी महामारी से जूझ रही है. एक ऐसी संक्रामक बीमारी जिसने सुपरपावर देश अमेरिका तक की कमर तोड़ कर रख दी है. ना कोई इलाज ना दवा. अब तक 200 से ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले चुके कोरोना वायरस ने भारत में भी तेजी से पैर पसारने शुरु कर दिए हैं. आए दिन तेजी से कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है. लॉकडाउन भी जैसे इसे रोकने के लिए फेल साबित हो रहा है. जितनी मौतें दूसरे विश्व युद्ध में नहीं हुई उतनी इस कोरोना काल में हो चुकी हैं.

Immunity means in hindi

बड़े से बड़ा आदमी कोरोना (COVID-19) से फैली महामारी के आगे बेबस नजर आ रहा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता(Immunity) मजबूत है तो कोरोना आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकता. अपनी मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) के बलबूते आप कोरोना जैसी महामारी से ना सिर्फ लड़ सकते हैं बल्कि उसे मात भी दे सकते हैं.

कैसे बढ़ाएं Immunity (रोग प्रतिरोधक क्षमता)|Immunity means in hindi

दरअसल किसी व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक विकास में Immunity/इम्युनिटी( रोग प्रतिरोधक क्षमता) का अहम रोल होता है. अगर हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) कमजोर होती है तो बीमारियां हमें जल्दी घेर लेती हैं. वहीं अगर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) मजबूत होती है तो कई बीमारियों से हमारा शरीर खुद ही निपट लेता है. रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) हमें कई तरह के बैक्टीरियल संक्रमण, फंगस संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करती है.

Immunity means in hindi

डॉक्टरों की मानें तो अगर किसी व्यक्ति की इम्युनिटी(रोग प्रतिरोधक क्षमता) स्ट्रॉन्ग है तो ऐसी बीमारियों से 60 फीसदी तक बचाव किया जा सकता है. कमजोर प्रतिरोधक क्षमता(immunity) वाले लोग ऐसे वायरस का जल्दी शिकार होते हैं. लिहाजा आज अपने इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप अपनी immunity (रोग प्रतिरोधक क्षमता) को मजबूत बना सकते हैं और कोरोना(COVID-19) जैसी महामारी से खुद को बचा सकते हैं.

कैसे बढ़ाएं Immunity (रोग प्रतिरोधक क्षमता)|Immunity means in hindi

नीचे हम आपको कुछ टिप्स देने जा रहे हैं जिनसे आप एक सप्ताह के अंदर-अंदर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकते हैं जैसे:-

  1. स्वस्थ आहार लें(immunity means in hindi)- सबसे पहली और जरूरी बात कि आप स्वस्थ खानपान की आदत डालें. जितना ज्यादा पौष्टिक खाना आप खाओगे उतनी ही अच्छी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) होगी. अपने खाने में हरी सब्जियां, फलों, दालों और दूध को शामिल करें.
  2. दही खाएं(immunity means in hindi)- कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन से भरपूर दही ना सिर्फ आपकी हड्डियों को मजबूती देता है बल्कि यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. दही में मैग्नीशियम, सेलेनियम और जिंक की भी भरपूर मात्रा होती है जो immunity इम्युनिटी(रोग प्रतिरोधक क्षमता) को मजबूत बनाने में सहायक होती है. प्राचीन काल से ही दही का काफी महत्व रहा है.
  3. ग्रीन टी और ब्लैक टी(immunity means in hindi)- ग्रीन टी के फायदे आज पूरी दुनिया जानती है. सामान्य चाय के मुकाबले ग्रीन टी का सेवन आपके शरीर के लिए हर तरह से फायदेमंद होता है. ग्रीन टी के साथ ही ब्लैक टी भी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है. हालांकि एक दिन में एक से दो कप ही ग्रीन टी और ब्लैक टी पिए. क्योंकि इससे ज्यादा इनका सेवन आपको नुकसान पहुंचा सकता है.
  4. विटामिन सी युक्त फल खाएं(immunity means in hindi)- संक्रामक रोगों से सुरक्षा के लिए विटामिन सी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है. नींबू, संतरा और आंवले में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखने में मददगार साबित होता है. आप विटामिन सी युक्त फलों का जूस भी पी सकते हैं.
  5. ओट्स का सेवन करें(immunity means in hindi)- अपने इम्यून सिस्टम(immune system) यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने के लिए ओट्स एक अच्छा विकल्प है.ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं. साथ ही इसमें एंटी-माइक्राबियल गुण भी होता है. हर रोज इसके सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है.
  6. सलाद जरूर खाएं(immunity means in hindi)- भोजन के साथ सलाद के सेवन की आदत डालें. सलाद में ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, पत्तागोभी. प्याज, चुकंदर आदि को शामिल करें.
  7. अंकुरित अनाज का सेवन करें(immunity means in hindi)- अंकुरित अनाज हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. मूंग, मोठ, चना तथा अन्य भीगी हुई दालों का भरपूर मात्रा में सेवन करें. अनाज को अंकुरित करने से उनमें उपस्थित पोषक तत्वों की क्षमता बढ़ जाती है. ये पचाने में आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट होते हैं और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को ब़ढ़ाने में सहायक होते हैं.
  8. चोकर सहित अनाज(immunity means in hindi)- गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का जैसे अनाज का सेवन चोकर सहित करें इससे कब्ज नहीं होगी तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता भी चुस्त-दुरुस्त रहेगी.
  9. विटामिन डी(immunity means in hindi)- विटामिन डी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. इससे कई रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है. साथ ही यह हड्डियों को मजबूत बनाए रखता है.
  10. तुलसी(immunity means in hindi)- अपने चमत्कारिक औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी को आयुर्वेद में एक अलग ही स्थान प्राप्त है. एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर तुलसी को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में काफी असरदार माना जाता है. प्रतिदिन तुलसी के 3 से 5 पत्तों का सेवन करना आपके लिए काफी फायदेमंद होगा. आप तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर भी पी सकते हैं.
  11. मधु/शहद(Honey)– आश्चर्यजनक गुणों से भरपूर शहद को सर्वोत्तम खाद्य योग्य पदार्थ माना गया है. बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के लिए इसका सेवन फायदेमंद माना जाता है. अधिकांश ग्रंथों में शुद्ध शहद को अमृत के समान गुणकारी माना गया है. शहद के अनेकों लाभ में एक लाभ यह भी है कि इसके सेवन से व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.
  12. लहसुन-लहसुन एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल गुणों से भरपूर है. प्रतिदिन एक से दो लहसुन की कलियों के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. आप दाल और सब्जी में इसका इस्तेमाल कर सकती हैं.
  13. अदरक– चाय में स्वाद लाने वाली अदरक में immunity इम्युनिटी(रोग प्रतिरोधक क्षमता) बढ़ाने वाले गुण होते हैं. इसे अपने खाद्य पदार्थों में शामिल करें या अदरक की चाय पिएं. प्रतिदिन इसके सेवन से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होगी.
  14. हल्दी -एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर हल्दी को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के मामले में बेहतर विकल्प माना जाता है. इसे आपको खाद्य पदार्थों में ज्यादा से ज्यादा शामिल करना चाहिए. आधा चम्मच हल्दी को आप एक बड़ा चम्मच घी या नारियल तेल और थोड़ी मात्रा में काली मिर्च के साथ भी ले सकते हैं.
  15. हरी पत्तेदार सब्ज़ियां – अपने खाने में खास तौर पर पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें.  पालक, मूली, मैथी समेत तमाम पत्तेदार सब्जियां रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले गुणों से परिपूर्ण होती हैं. अत: पत्तेदार सब्जियों को अपने आहार में शामिल करें.
  16. बादाम खाएं– विटामिन ई सहित कई पोषक तत्वों से भरपूर बादाम ना सिर्फ दिमाग तेज करने के लिए जाना जाता है बल्कि इसका सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता(immunity) को मजबूत करने में भी अति आवश्यक माना जाता है.
  17. व्यायाम व योग करेंयोग व व्यायाम शरीर को स्वस्थ और रोगमुक्त रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. किसी जानकार से इन्हें सीखकर प्रतिदिन घर पर इनका अभ्यास करें. इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. अगर आप व्यायाम नहीं कर  पा रहे हैं तो सिर्फ मॉर्निंग वॉक भी कर सकते हैं. दरअसल मॉर्निंग वॉक और योग से शरीर में ऐसे एंजाइम्स और हार्मोन स्रावित होते हैं जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी से बचाने में सहायक होते हैं.
  18. उचित मात्रा में पानी पिएं– रोग- प्रतिरोधक क्षमता(immunity) बढ़ाने का यह सबसे आसान तरीका है. जल को एक प्राकृतिक औषधि माना गया है. प्रचुर मात्रा में शुद्ध जल के सेवन से शरीर में जमा कई तरह के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. फ्रिज वाला पानी पीने से बचें. सामान्य पानी पिएं.
  19. हंसना जरूरी है– सुनने में थोड़ा अटपटा लगेगा लेकिन यह बिल्कुल सच है कि हंसने से भी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. दरअसल हंसने से रक्त संचार सुचारू होता है व हमारा शरीर अधिक मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण करता है. तनावमुक्त होकर हंसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.
  20. अच्छी नींद लें– मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए अच्छी नींद लेना भी काफी जरूरी है. रोजाना कम से कम 7 घंटे और अधिकतम 8 घंटे की नींद जरूरी है. कम नींद से शरीर में कॉर्टिसोल नामक हार्मोन के लेवल में बढ़ोतरी होती है. यह हार्मोन ना केवल तनाव बढ़ाता है बल्कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर करता है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *