Benefits of Amla in hindi |Amla ke fayde

Benefits of Amla in hindi

Benefits of Amla in hindi – AMLA(आंवला) को आर्युवेद में अमृत के समान गुणकारी माना गया है. इसका मुकाबला किसी से नहीं किया जा सकता. भारत में शायद ही कोई ऐसा हो जिसे AMLA(आंवला) के बारे में ना पता हो. यह सबसे प्राचीन आयुर्वेदिक औषधियों में से एक माना जाता है. अपने औषधीय गुणों के कारण पूरी दुनिया में AMLA(आंवला) प्रचलित है.

विटामिन सी का सर्वोत्तम स्रोत AMLA(आंवला) कई पौष्टिक तत्वों से भरपूर है. हम में से कईयों ने तो नानी, दादी के मुंह से बचपन से इसके गुणों का बखान सुना होगा. ये तो सभी जानते हैं कि आंवला आंखों, बालों और त्वचा के लिए वरदान है लेकिन इसके अलावा भी इसके कई और महत्वपूर्ण फायदे हैं जो आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. लगभग हर तरह के घरेलू नुस्खे में आंवले का इस्तेमाल किया जाता है.

विटामिन सी से भरपूर AMLA(आंवला) में कैल्शियम, आयरन. फॉस्फोरस, फाइबर, और कार्बोहाइड्रेट भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. आंवला एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों का प्रचुर स्रोत है.

AMLA(आंवला) का आयुर्वेद में महत्व |Benefits of Amla in hindi

आयुर्वेद के अनुसार हरीतकी(हड़) और आंवला दो सर्वोत्कृष्ट औषधिया हैं. इन दोनों में भी आंवले का महत्व अधिक है. प्राचीन ग्रंथकारों ने इसको शिवा(कल्याणकारी), व्यस्था(अवस्था को बनाए रखने वाला) तथा धात्री( माता के समान रक्षा करने वाला) कहा गया है. आयुर्वेद के दो सबसे प्रमुख ग्रंथों चरक संहिता और सुश्रुत संहिता में आंवला को ऊर्जादायक जड़ीबूटी कहा गया है. इतना ही नहीं भारतीय पौराणिक कथाओं में AMLA(आंवला) को भगवान विष्णु का अश्रु(आंसू) कहा गया है. भारत में कुछ जगह आंवले के पेड़ और उसके फल की पूजा भी की जाती है.

AMLA(आंवला) का परिचय|Benefits of Amla in hindi

AMLA(आंवला) को अंग्रेजी में Indian gooseberry कहते हैं. वहीं संस्कृत में इसे अमृता, अमृतफल, आमलकी( मां एवं जीवनदायक), पंचरसा कहते हैं. लैटिन में इसे फिलैंथस एंबेलिका(Phyllanthus emblica) कहते हैं. इसका वैज्ञानिक नाम रिबीस यूवा-क्रिस्पा है. यह रिबीस जाती और आर यूवा-क्रिस्पा प्रजाति का है. यह 20 फीट से 24 फुट तक लंबा झारीय पौधा होता है.यह एशिया के अलावा, यूरोप और अफ्रीका में भी पाया जाता है.

AMLA(आंवला) से जुड़े तथ्य |Benefits of Amla in hindi

वानस्पतिक नाम-फिलैंथस एंबैलिका (Phyllanthus emblica)

वंश-फिलैंथेसी

सामान्य नाम– भारतीय गूज़बैरी, आमलकी

संस्कृत नाम– धत्री, अमृता, अमृतफल

उपयोगी भाग– फल(ताजा और सूखा दोनों), बीज, छाल, पत्तियां, फूल

भौगोलिक विवरण– भारत के अलावा चीन और मलेशिया में भी पाया जाता है.

गुण– AMLA(आंवला) को शरीर में त्रिदोष(वात, पित्त और कफ) में संतुलन लाने के लिए जाना जाता है. आंवले में शीत, भारी, रुखा, धातुवर्द्धक और मधुमेह को दूर करने वाले गुण होते हैं.

AMLA(आंवला) के पौधे हिमालयी क्षेत्र और प्राद्वीपीय भारत में बहुतायात में मिलते हैं. वाराणसी का AMLA(आंवला) सबसे अच्छा माना जाता है. आंवले का प्रयोग आमतौर पर आचार, चटनी और मुरब्बे के रूप में किया जाता है इसके अलावा आप इसके फल को सीधा खा सकते हैं या फिर इसका जूस भी पी सकते हैं.

AMLA(आंवला) में मौजूद पौष्टिक तत्व|Benefits of Amla in hindi

एक कप(150 ग्राम) AMLA(आंवला) में ये चीजें इतनी मात्रा में पाई जाती हैं:-

कैलोरी(Calorie)-66

प्रोटीन(Protein)-1 ग्राम

फैट(fat)-एक ग्राम से भी कम

कार्बोहाइड्रेट(Carbohydrate)-15 ग्राम

फाइबर(fiber)-7 ग्राम

विटामिन सी-प्रतिदिन का निर्धारित 46%

विटामिन B5– प्रतिदिन का निर्धारित 9%

विटामिन B6- प्रतिदिन का निर्धारित 7%

कॉपर(Copper)– प्रतिदिन का निर्धारित 12%

मैंग्नीज़(Manganese)– प्रतिदिन का निर्धारित 9%

पोटैशियम(Potassium)– प्रतिदिन का निर्धारित 6%

AMLA(आंवला) के फायदे|Benefits of Amla in hindi

  1. मधुमेह(Diabetes) को करे नियंत्रित(Benefits of Amla in hindi) – डायबिटीज़(Diabetes) यानि शुगर के मरीजों के लिए AMLA(आंवला) काभी लाभकारी माना जाता है. मधुमेह का मरीज़ अगर प्रतिदिन आंवले के रस का शहद के साथ सेवन करे तो उसे डायबिटीज़ में काफी राहत मिलती है.
  2. दिल को रखे स्वस्थ(Benefits of Amla in hindi)- आंवले को हृदय को आरोग्य रखने का सबल तरीका माना जाता है. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, आयरन, एंथोसाइनिन, फ्लैवोनोइड्स, पोटेशियम आदि तत्व दिल का अच्छे से ख्याल रखते हैं. AMLA(आंवला) खराब कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाकर धमनी में अवरोध को कम करता है और रक्तचाप को भी नियंत्रित रखता है. कुल मिलाकर कहा जाए तो आंवला दिल संबंधी लगभग सभी समस्याओं से आपको सुरक्षा प्रदान करता है.
  3. पाचन के लिए लाभदायक(Benefits of Amla in hindi) – आंवला का सेवन पेट के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है. इससे पाचन संबंधी समस्याओं का नाश होता है साथ ही पेट से जुड़ी अन्य समस्याएं जैसे गैस, एसिडिटी से भी राहत मिलती है.
  4. पथरी को गलाए(Benefits of Amla in hindi)-आंवले का उपयोग पथरी की समस्या में भी किया जाता है. कहा जाता है कि पथरी होने पर प्रतिदिन मूली के रस में आंवले का चूर्ण मिलाकर पीने से कुछ ही दिनों में पथरी गल जाती है.
  5. आंखों के लिए अमृत समान(Benefits of Amla in hindi)- बचपन से हम यह सुनते आए हैं कि AMLA(आंवला) आंखों और बालों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. यह ना सिर्फ आंखों की रोशनी बढ़ाता है बल्कि उन्हें स्वस्थ भी रखता है जिससे आंखों में अलग ही चमक आती है. आंवले के प्रयोग से मोतियाबिंद की समस्या भी खत्म हो जाती है. प्रतिदिन एक आंवले का सेवन करने से आंखों से संबंधित कोई समस्या नहीं होती. आप रोजाना एक चम्मच आंवला के पाउडर को शहद के साथ लें.
  6. दिमाग करे तेज(Benefits of Amla in hindi)- AMLA(आंवला) दिमाग के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है. यह विटामिन और खनिजों का समृद्ध स्रोत है जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए काफी महत्वपूर्ण है. आंवला दिमाग को मजबूती देकर स्मरण शक्ति बढ़ाता है साथ ही एकाग्रता को भी सुधारता है. इसके लिए आप आंवले के कच्चे फल का सेवन करें.
  7. बालों के लिए वरदान(Benefits of Amla in hindi)- सुंदर बालों की चाहत हर किसी की होती है. इसके लिए सबसे बेहतर है AMLA(आंवला). आंवला बालों के लिए कितना महत्वपूर्ण है यह तो पूरी दुनिया जानती है. प्रतिदिन एक आंवले का सेवन करने वाले को गारंटी से बाल संबंधी कोई भी समस्या नहीं होगी. नियमित तौर पर आंवले के पाउडर से बाल धोने से बाल संबंधी सभी समस्याओं जैसे बालों का झड़ना, असमय सफेद होना, बालों का रूखापन, रूसी आदि से छुटकारा मिलता है और बाल काले, घने, लंबे और मजबूत बनते हैं.
  8. कैंसर से लड़ने में सहायक(Benefits of Amla in hindi)- आंवले को कैंसर रोगियों के लिए संजीवनी की तरह माना जाता है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं जो कार्सिनोजोनिक(कैंसर के लिए जिम्मेदार) कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं. प्रतिदिन इसके सेवन से कैंसर का खतरा कम होता है.
  9. त्वचा का रखे ख्याल(Amla ke fayde)- AMLA(आंवला) त्वचा संबंधी सभी समस्याओं के लिए रामबाण की तरह है. चेहरे के दाग-धब्बे से लेकर त्वचा से जुड़ी लगभग सभी समस्याओं के लिए आंवला एकमात्र कारगर इलाज है. सप्ताह में एक बार इसका पेस्ट बनाकर त्वचा पर लगाने से आपका चेहरा पहले से अधिक साफ, चमकदार, झाइयों और झुर्रियों रहित हो जाएगा.
  10. शरीर का तापमान करे नियंत्रित(Amla ke fayde)-आंवले की तासीर ठंडी होती है. लिहाजा शरीर में गर्मी बढ़ जाने पर AMLA(आंवला) सबसे बेहतर उपाय है. आंवले के रस का सेवन करें या फिर इसे ऐसे ही खाने पर शरीर को ठंडक मिलती है जिससे शरीर का बढ़ा हुआ तापमान कम हो जाता है. इसके अलावा उल्टी होने या हिचकी आने की स्थिति में भी AMLA(आंवला) लाभकारी सिद्ध होता है. इसके लिए आंवले के रस को मिश्री के साथ दिन में दो-तीन बार सेवन करने से काफी राहत मिलती है
  11. बुखार में लाभदायक(Amla ke fayde)-बुखार होने पर आंवले के रस में छौंक लगाकर इसका सेवन करने से बुखार में राहत मिलती है.
  12. दांत दर्द(Amla ke fayde) – AMLA(आंवला)दांत संबंधी समस्याओं में भी राहत देता है. दांत दर्द या कैविटी होने पर आंवले के रस में थोड़ा सा कपूर मिलाकर मसूड़ों पर लगाने से काफी आराम मिलता है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *