Hydroxychloroquine brand name in india

Hydroxychloroquine brand name in india

Hydroxychloroquine brand name in india (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) – पूरी दुनिया पर इस समय कोरोना महामारी की मार जारी है. कोरोना से निपटने के लिए वैक्सीन की खोज पर लगातार काम चल रहा है लेकिन अभी तक किसी भी देश को इसमें कामयाबी नहीं मिली है. इसी बीच भारत, अमेरिका, फ्रांस, इटली समेत 200 से ज्यादा देशों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. पूरी दुनिया में 15 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित पाए गए हैं वहीं इससे 1 लाख से ज्यादा मौत हो चुकी हैं. हालांकि हमारे देश के लिए राहत की बात यह है कि हम अभी भी काफी हद तक स्टेज-3 में पहुंचने से बचे हुए हैं. सही वक्त पर लॉकाडाउन लागू करने का नतीजा सामने आ रहा है. कोरोना मरीजों के ठीक होने का आंकड़ा मौत के मामलों से कहीं बेहतर है तो साथ ही 80 फीसदी मरीज ऐसे हैं जिनमें कोरोना का असर शुरुआती स्तर पर है.

Hydroxychloroquine brand name in india

कोरोना से लड़ाई में हमारे देश के सबसे ज्यादा काम आ रही है कि मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली Hydroxychloroquine (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा जिसकी मांग अब सुपरपावर अमेरिका समेत दुनिया के अन्य देश भारत से कर रहे हैं और मदद मिलने पर पीएम मोदी की तारीफ भी कर रहे हैं. आज अपने इस लेख में हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि आखिर Hydroxychloroquine (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवाई है क्या. इसे कितनी मात्रा में और कब इस्तेमाल किया जाता है. इसके क्या साइड इफेक्ट्स हैं और भारत से ही इस दवा की मांग क्यों की जा रही है.

Hydroxychloroquine (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) क्या है|Hydroxychloroquine brand name in india

Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन), chloroquine(क्लोरोक्वाइन) की तरह ही एक एंटी मलेरिया ड्रग है. इस दवा को मलेरिया जैसी खतरनाक बीमारी के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है. साथ ही आर्थराइटिस के उपचार में भी इसका उपयोग किया जाता है. यह मलेरिया से लड़ने की सबसे पुरानी और अचूक दवा है.  यह टेबलेट के रूप में बाजार में उपलब्ध है. यह Plaquenil ब्रांड नाम से आती है,

Hydroxychloroquine brand name in india

Hydroxychloroquine कई तरह के मलेरिया से लड़ने में सक्षम है. अब यह दवाई कोरोना से लड़ने में भी कारगर साबित हो रही है हालांकि यह अकेले कोरोना को ठीक करने में कारगर नहीं है लेकिन अन्य दवाओं के साथ मिलाकर इससे बहुत अच्छे नतीजे सामने आए हैं जिसे आज पूरी दुनिया मान रही है. भारत Hydroxychloroquine (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) का सबसे बड़ा निर्यातक है. दुनियाभर में कोरोना मरीज़ों की संख्या में इज़ाफा होने के बाद इसकी मांग तेजी से बढ़ी है.

Hydroxychloroquine brand name in india

पिछले दिनों ही भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद(ICMR) ने कोरोना वायरस(Corona virus, COVID-19) के उपचार के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन के उपयोग का सुझाव दिया था जिसके बाद कोरोना के मरीजों पर इसका सकरात्मक असर देखने को मिला. इसके बाद कोरोना से लड़ रहे अमेरिका, इजराइल समेत अन्य देशों का ध्यान भी इस दवा पर गया और क्योंकि भारत इस दवा का सबसे बड़ निर्यातक है तो इन देशों ने पीएम मोदी से मदद मांगी. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तो हमारे देश को दवा के लिए चेतावनी तक दे दी थी. लेकिन अपने देश में दवा की पर्याप्त मात्रा को ध्यान में रखने के बाद पीएम मोदी ने जरूरतमंद देशों में दवा के निर्यात को मंजूरी दी.

Hydroxychloroquine brand name in india

अमेरिका समेत कई दूसरे देशों में भी इस दवा का सकरात्मक नतीजा दिखा और फिर इसकी डिमांड काफी बढ़ गई. फिलहाल अमेरिका, ब्राजील, जर्मनी, और स्पेन जैसे देशों में Hydroxychloroquine (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) की मांग सबसे ज्यादा है.

Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा का इस्तेमाल कोरोना संक्रमति और संदिग्ध दोनों ही स्थितियों में किया जा सकता है.

Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा के साइड इफेक्ट|Hydroxychloroquine brand name in india

कोरोना के इलाज में कारगर साबित हो रही Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी साफ शब्दों में इस दवा के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी जारी की थी. मंत्रालय का कहना है कि यह दवा भूल से भी बच्चों को ना दी जाए. विशेषज्ञों के मुताबिक Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) से सिरदर्द, चक्कर आना, भूख में कमी, अंधापन, दिल की बीमारी, मतली, दस्त, पेट दर्द, उल्टी, त्वचा पर लाल चकते, मांसपेशियों में कमजोरी, नाक से खून बहना और सुनने में दिक्कत होना जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं. इतना ही नहीं इसके ओवरडोज़ से दौरे भी पड़ सकते हैं या फिर रोगी बेहोश भी हो सकता है. ज्यादा गंभीर मामलों में तो मौत तक हो सकती है.

Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) पर क्या कहते हैं विशेषज्ञ|Hydroxychloroquine brand name in india

विशेषज्ञों की मानें तो Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) की दवा केवल डॉक्टरों के निर्देश पर ही इस्तेमाल की जानी चाहिए. अपने स्तर पर इसका सेवन बेहद खतरनाक साबित हो सकता है. आपको अपनी जान से हाथ धोना पड़ सकता है.

भारत में Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) के मायने|Hydroxychloroquine brand name in india

Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा की वजह से सुपरपावर अमेरिका समेत पूरा देश भारत की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देख रहा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे देश में यह दवा इतने बड़े पैमाने पर क्यों बनाई जाती है. दरअसल भारत में मलेरिया से लाखों लोग हर साल प्रभावित होते हैं. इस कारण यहां पर हर वर्ष बड़ी मात्रा में Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) दवा का उत्पादन किया जाता है. जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा यह दवाई भारत में ही बनाई जाती है.

भारत ने Hydroxychloroquine(हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन) के निर्यात पर लगाई थी रोक|Hydroxychloroquine brand name in india

भारत में तेजी से बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या को देखत हुए भारत सरकार ने इस दवा के निर्यात पर पिछले महीने ही रोक लगा दी थी. लेकिन उम्मीदों भरी नजरों से भारत की तरफ  देख रहे अमेरिका और इज़रायल को मोदी सरकार ने इंसानियत के नाते दवा के निर्यात के लिए हामी भर दी. हालांकि मोदी सरकार पहले ही सुनिश्चित कर चुकी है कि भारत में इसकी कमी ना होने पाए. इसका पर्याप्त स्टॉक देखकर ही अब भारत ने अन्य देशों की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *