Mulethi meaning in hindi|मुलेठी के फायदे

mulethi meaning in hindi
mulethi meaning in hindi

Mulethi meaning in hindi- मुलेठ(mulethi) आयुर्वेद की एक बहुत गुणकारी जड़ीबूटी है. इसे यष्टीमधु भी कहा जाता है. साफ सीधे शब्दों में इसे हम औषधीय गुणों का खजाना कह सकते हैं. हममें से कईयों ने इसके बारे में अपने बड़े बुजुर्गों से सुना होगा. देखने में साधारण सी लकड़ी जैसी दिखने वाली इस जड़ीबूटी के गुण उतने ही असाधारण हैं. प्राचीन काल से ही स्वाद बढ़ाने से लेकर चिकित्सा तक में इसका इस्तेमाल होता आ रहा है. आज अपनी इस पोस्ट में हम आपको मुलेठी(mulethi) के बारे में बताने जा रहे हैं. मुलेठी(mulethi) क्या है, आयुर्वेद में इसका क्या महत्व है और हमारे जीवन में इसके क्या-क्या फायदे हैं.

मुलेठी(mulethi) का परिचय |Mulethi meaning in hindi

मुलेठी(mulethi) का वैज्ञानिक नाम ग्लीसीर्रहीजा ग्लाब्र(Glycyrrhiza glabra) है. मुलेठी(mulethi) असल में एक छोटा झाड़ीनुमा पौधा है जिसका तना कई सारे औषधीय गुणों से भरा है. इसके तने को ही छाल सहित सुखाकर उसका उपयोग किया जाता है. मुलेठी(mulethi) का स्वाद मीठा होता है और तासीर ठंडी होती है. यही वजह है कि इसका व्यापक रूप से मिठाई, टूथपेस्ट, और पेय पदार्थों में स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. मुलेठी(mulethi) को अंग्रेजी में लिकोरिस(Licorice), संस्कृत में मधुयष्टि, मराठी में जेष्टिमधु(jeshtimadhu) और गुजराती में जेठीमध(jethimadha) कहते हैं.

मुलेठी(mulethi) को दांतों, मसूड़ों, और गले के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. यही वजह है कि कई हर्बल टूथपेस्ट में मुलेठी(mulethi) का इस्तेमाल किया जाता है. हममें से शायद कम लोगों को पता होगा कि टूथपेस्ट में जो मीठा स्वाद होता है वो मुलेठी(mulethi) का ही होता है. अपने एंटी-डायबिटिक और एंटी ऑक्सीडेंट गुणों के कारण इसे कई रोगों की अकेली दवा कहा गया है. मुलेठी(mulethi) के इस्तेमाल को गले की खराश में सबसे ज्यादा असरदार माना गया है.

सर्दी-जुकाम या खांसी दूर करने में सबसे मुफीद माने जाने वाली मुलेठी(mulethi) का बड़े पैमाने पर आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने में इस्तेमाल किया जाता है. औषधि के अलावा अपनी प्राकृतिक मिठास के चलते मुलेठी(mulethi) का बड़े पैमाने पर खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. मुलेठी(mulethi) में चीनी से 50 फीसदी ज्यादा प्राकृतिक मिठास पाई जाती है.

पोषक तत्वों से भरपूर मुलेठी(mulethi)|Mulethi meaning in hindi

फ्लेवोनॉइड्स(flavonoids) युक्त मुलेठी(mulethi) कई सारे पोषक तत्वों से भरपूर है. मुलेठी विटामिन बी और विटामिन ई का अच्छा स्रोत है. इसके साथ ही इसमें फॉस्फोरस, कैल्शियम, कोलीन, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सेलेनियम, सिलिकॉन और जिंक भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है.

मुलेठी(mulethi) के फायदे |Mulethi meaning in hindi

औषधीय गुणों से भरपूर मुलेठी(mulethi) के इतने फायदे हैं कि आप पढ़ते-पढ़ते और हम बताते-बताते थक जाएंगे. फिर भी यहां हम आपको मुलेठी(mulethi) के कुछ मुख्य फायेद बताने जा रहे हैं जो इस प्रकार हैं:-

  1. सर्दी-जुकाम भगाए-मुलेठी(mulethi) का सेवन सर्दी जुकाम भगाने में काफी कारगर माना जाता है. मुलेठी को चूसने से सर्दी जुकाम से जल्द राहत मिलती है.
  2. खांसी के लिए बेस्ट-मुलेठी(mulethi) को खांसी के इलाज के लिए रामबाण माना जाता है. इतना ही नहीं इसके सेवन से गले से जुड़े किसी भी तरह के संक्रमण से मुक्ति मिलती है. खांसी हो, गले में सूजन हो, खराश हो या गला बैठा हो ऐसे में मुलेठी चूसने से तुरंत आराम मिलता है. सूखी खांसी में मुलेठी(mulethi) काफी लाभदायक मानी जाती है.  
  3. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए-औषधीय गुणों से भरपूर मुलेठी(mulethi) के नियमित सेवन से आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत कर सकते हैं. इसमें मौजूद खास गुण आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनाकर रोगों से रक्षा करते हैं.
  4. पाचन सुधारे-मुलेठी(mulethi) को पेट के लिए भी काफी गुणकारी माना जाता है. कहा जाता है जो लोग नियमित तौर पर किसी ना किसी तरह से मुलेठी(mulethi) का सेवन करते हैं उसे पेट से जुड़ी कोई समस्या नहीं होती.
  5. मुंह और पेट के छालों में दे आराम– मुलेठी(mulethi) से मुंह और पेट के छालों में काफी आराम मिलता है. इसके लिए आप प्रतिदिन मुलेठी का पानी या फिर चाय पी सकते हैं . इससे आपको काफी राहत मिलेगी.
  6. डायबिटीज(diabetes) में लाभदायक-अपने एंटी-डायबिटिक गुणों के कारण मुलेठी(mulethi) को मधुमेह के रोगियों के लिए काफी लाभदायक माना जाता है. यह शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करती है. डायबिटीज़ के मरीजों के लिए प्रतिदिन मुलेठी(mulethi) की चाय का सेवन काफी लाभदायक सिद्ध होगा.
  7. पीलिया का पारंपरिक इलाज– आप में से शायद कई लोगों को यह नहीं पता होगा कि मुलेठी(mulethi) पीलिया जैसी गंभीर बीमारी का पारंपरिक इलाज है. सदियों से पीलिया की बीमारी में मुलेठी(mulethi) का इस्तेमाल किया जाता रहा है. पीलिया के लिए तो इसे रामबाण इलाज माना जाता है.
  8. त्वचा रोगों में फायदेमंद– मुलेठी(mulethi) को त्वचा से जुड़े रोगों में भी फायदेमंद माना जाता है. दरअसल मुलेठी(mulethi) में त्वचा के बैक्टीरिया को खत्म करने वाले गुण होते हैं. चेहरे पर मुलेठी के इस्तेमाल से त्वचा मुलायम और निखरी रहती है. इसके लिए आप मुलेठी(mulethi) के पाउडर को चंदन के पाउडर और दूध के साथ लेप बनाकर चेहरे पर लगा सकते हैं.
  9. मासिक धर्म सुधारे-मुलेठी(mulethi) का सेवन उन महिलाओं के लिए किसी वरदान से कम नहीं है जिन्हें अनियमित मासिक धर्म की समस्या रहती है. मुलेठी(mulethi) के  नियमित सेवन से ना सिर्फ आपके मासिक धर्म नियमित होंगे बल्कि पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से भी आपको राहत मिलेगी.
  10. वजन घटाए-मुलेठी(mulethi) में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं जो आपके शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को खत्म करता है. मुलेठी में मौजूद फ्लेवोनाइड्स शरीर में जमा अत्यधिक वसा संचय को कम करने में मदद करता है. इसके नियमित सेवन से आप जरूरत से ज्यादा खाने से भी बच सकते हैं.
  11. गठिया के इलाज में– मुलेठी(mulethi) का इस्तेमाल गठिया रोग के इलाज में भी किया जाता है. यह जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करती है. इसके लिए आप प्रतिदिन एक कप मुलेठी(mulethi) की चाय बनाकर पी सकती हैं.
  12. मुंह को रखे स्वस्थ-मुलेठी(mulethi) का सेवन आपके मुंह के स्वास्थ्य का भी पूरा ख्याल रखता है. जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुणों से भरपूर  मुलेठी(mulethi) आपके मुंह को बैक्टीरिया से सुरक्षित कर मसूड़ों और सांस संबंधी सभी समस्याओं से मुक्त करता है. मुलेठी(mulethi) दांतों और मसूड़ों को प्रभावी तरीके से मजबूत बनाता है साथ ही मुंह की बदबू से भी राहत दिलाता है.

plz like and share

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *