Cinnamon in hindi name and benefits|दालचीनी

Cinnamon in hindi name and benefits
Cinnamon in hindi name and benefits

Cinnamon in hindi name and benefits-दालचीनी(daalchini) भारत का एक बेहद लोकप्रिय मसाला है. लगभग सभी की किचन में आपको दालचीनी देखने को मिल जाएगी. दालचीनी(daalchini) को मसालों की रानी भी कह सकते हैं. खाद्य पदार्थों में स्वाद बढ़ाने के लिए लोग दालचीनी(daalchini) का इस्तेमाल करते हैं. इसके अलावा औषधि के रूप में भी इसका कई हजार सालों से उपयोग होता आ रहा है. मसालों में दालचीनी का तड़का खाने के ज़ायके को जहां और बढ़ा देता है तो वहीं बड़ी से बड़ी बीमारी को ठीक करने में भी ये उतनी ही सक्षम है. इतिहास के पन्नों को खंगालें तो पता चलता है कि हजारों साल पहले से दालचीनी(daalchini) का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता रहा है. दालचीनी(daalchini) एक बहुत ही गुणकारी मसाला है. आयुर्वेद की मानें तो दालचीनी(Daalchini) के इस्तेमाल से कई रोगों का इलाज किया जा सकता है. आयुर्वेद में दालचीनी(daalchini) का उल्लेख बहुत फायदेमंद औषधि के रूप में किया गया है.

दालचीनी(daalchini) का परिचय |Cinnamon in hindi name and benefits

दालचीनी(daalchini) को अंग्रेजी में Cinnamon कहते हैं. संस्कृत में इसे त्वाक कहा जाता है. यह एक सुगंधित, स्वादिष्ट व गुणकारी मसाला है. दालचीनी(daalchini) का छोटा पेड़ होता है जिसकी लंबाई 10 से 15 मीटर होती है. दालचीनी(daalchini) का पेड़ सदाबहार होता है, इस पेड़ की अंदरूनी छाल से ही दालचीनी(daalchini) मसाला तैयार किया जाता है. दालचीनी(daalchini) लौरेसिई(lauraceae) परिवार का है. इसकी छाल पीली, पतली और सुगंधित होती है. दालचीनी(daalchini) भूरे रंग की मुलायम और चिकनी छाल होती है. खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ कई तरह की बीमारियों को ठीक करने में दालचीनी(daalchini) का इस्तेमाल किया जाता है. श्रीलंका और दक्षिण भारत में यह बहुतायत में पाया जाता है. श्रीलंका में तो शुद्ध दालचीनी(daalchini) पाई जाती है. वहीं भारत के केरल में इसकी खेती की जाती है.

दालचीनी(daalchini) की छाल और पत्ती दोनों भाग उपयोगी होते हैं. इसकी छाल से मसाला बनता है तो पत्तियों के तेल से मच्छर भगाने समेत अन्य कई कामों में उपयोग में लाया जाता है. वैज्ञानिकों की मानें तो लौंग के बाद दालचीनी(daalchini) ही सबसे बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है.

दालचीनी(daalchini) का इतिहास काफी समृद्ध और प्राचीन है. माना जाता है कि बहुत पहले रोम में मृत शरीर से आने वाली दुर्गंध को दूर करने के लिए दालचीनी(daalchini) का इस्तेमाल किया जाता था. रोम में यह काफी महंगे मसालों की गिनती में आता है.

दालचीनी(daalchini) की तासीर |Cinnamon in hindi name and benefits

दालचीनी(daalchini) की तासीर गर्म होती है. यह वात एवं कफ दोष को संतुलित करती है तो वहीं पित्त दोष को बढ़ाती है.

दालचीनी(daalchini) के फायदे |Cinnamon in hindi name and benefits            

दालचीनी(daalchini) के निम्नलिखित फायदे हैं:-

  1. कैंसर से बचाए(Cinnamon in hindi name and benefits)- दालचीनी(daalchini) में एंटी कैंसर गुण पाए जाते हैं. कई शोधों में यह सामने आया है कि दालचीनी कैंसर की कोशिकाओं को फैलने से रोकती है. कैंसर का मरीज अगर नियमित रूप से दालचीनी(daalchini) का सेवन करे तो काफी हद तक कैंसर से निजात पा सकता है.
  2. मधुमेह(diabetes) को रखे नियंत्रितडायबिटीज़ के मरीजों के लिए दालचीनी(daalchini) किसी वरदान से कम नहीं है. खासतौर पर टाइप-2 डायबिटीज़ वाले मरीजों के लिए. दालचीनी(daalchini) शरीर की इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया बढ़ाकर रक्त शर्करा के स्तर को सामान्य बनाए रखती है. डायबिटीज़(diabetes) के मरीज अगर प्रतिदिन इसका सेवन करें तो काफी हद तक सामान्य जीवन जी सकते हैं.
  3. दिल का रखे बेहतर ख्याल– एक स्वस्थ जीवन के लिए दिल का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है. क्या आप जानते हैं दालचीनी(daalchini) आपके दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाती है. दरअसल दालचीनी(daalchini) में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो दिल और उसके आसपास की धमनियों को किसी भी तरह के संक्रमण व नुकसान से बचाती है. यह दिल के दौरे के खतरे को भी कम करती है.
  4. गठिया रोग में लाभदायक– दालचीनी(daalchini) का नियमित सेवन आपको गठिया के दर्द से राहत दिला सकता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक दालचीनी(daalchini) में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो गठिया दर्द के लिए जिम्मेदार साइटोकिन्स(cytokines) को कम करते हैं और सूजन व दर्द से राहत दिलाते हैं. सुबह-शाम एक चम्मच शहद के साथ आधा चम्मच दालचीनी(daalchini) पाउडर लेने से काफी लाभ देखने को मिलता है. इसके नियमित सेवन से एक हफ्ते के अंदर गठिया का दर्द कम हो जाता है.
  5. दांत दर्द में दे राहत-दांत संबंधी सभी समस्याओं जैसे दांत दर्द, मुंह की बदबू आदि में भी दालचीनी(daalchini) का सेवन फायदेमंद साबित होता है. दांत में दर्द होने पर आप दालचीनी(daalchini) का तेल रुई से दांतों पर लगाए इससे आपको दर्द से राहत मिलेगी.
  6. सर्दी-खांसी में असरदार-सर्दी-खांसी की समस्या में दालचीनी(daalchini) का सेवन बहुत फायेदमंद साबित होता है. इसके लिए आप आधा चम्मच दालचीनी(daalchini) पाउडर को गुनगुने पानी में शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं. आप चाहें तो इसे एक चम्मच शहद के साथ सूखा भी ले सकते हैं. दालचीनी(daalchini) को काली मिर्च के साथ मिलाकर भी लिया जा सकता है. इससे खांसी के दौरान होने वाले कफ से राहत मिलेगी.
  7. मोटापा कम करेमोटापा(obesity) आज के वक्त में किसी अभिशाप से कम नहीं है. अगर आप भी अपना वजन नियंत्रित करना चाहते हैं और खुद को फिट रखना चाहते हैं तो दालचीनी(daalchini) आपके लिए रामबाण साबित हो सकती है. दालचीनी(daalchini) शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करती है जिससे मोटापा नहीं बढ़ता. इसके लिए आप प्रतिदिन दालचीनी की चाय का सेवन कर सकते हैं. (Motapa kam karne ka tarika | वजन कम कैसे करें)
  8. पेट के लिए लाभदायक (Cinnamon in hindi name and benefits)-दालचीनी(daalchini) के लाभ पेट संबंधी समस्याओं में भी देखे गए हैं. अपच, गैस, पेट दर्द आदि समस्याओं में दालचीनी का पाउडर खाने से जल्द ही आराम मिलता है. इसके अलावा इसके नियमित सेवन से पेट संबंधी रोग खत्म हो जाते हैं.
  9. त्वचा बनाए जवां– अगर आप दमकती चमकती जवां त्वचा पाना चाहते हैं तो दालचीनी(daalchini) आपकी इस ख्वाहिश को पूरा करने में मददगार साबित हो सकती है. दालचीनी(daalchini) आपकी त्वचा से दाग-धब्बे, झाईयां, झुर्रियां कम करके त्वचा को निखारती है. इसके लिए आप दालचीनी(daalchini) के पाउडर को नींबू के रस के साथ मिलाकर पेस्ट तैयार करके चेहरे पर लगा सकते हैं. आप चाहें तो दालचीनी(daalchini) के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं. रात को लगाएं और सुबह उठकर गुनगुने पानी से मुंह धो लें आपका चेहरा खिल उठेगा.
  10. बालों का झड़ना रोके (Cinnamon in hindi name and benefits )-आजकल गंजेपन और बालों के झड़ने की समस्या काफी आम है. हर दूसरा शख्स गिरते बालों से परेशान है. ऐसे में दालचीनी(daalchini) का उपयोग आपके लिए फायदेमंद साबित होगा. दरअसल दालचीनी(daalchini) में बालों को झड़ने से रोकने के अद्भुत गुण हैं. इसके लिए आप एक चम्मच दालचीनी(daalchini) पाउडर को गुनगुने जैतून के तेल में एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर पेस्ट बनाकर बालों में लगाएं और 15 मिनट बाद सिर धो लें. कुछ ही दिनों में आपकी बाल झड़ने की समस्या दूर हो जाएगी.

अगर आपको हमारी ये पोस्ट (Cinnamon in hindi name and benefits ) पंसद आयी हो तो अपने परिजनों, दोस्तों को जरूर शेयर करें और bell icon को press करना ना भूलें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *